• January 11, 2020
हिंदी प्रश्न बैंक

हिंदी प्रश्न बैंक 1

हिंदी प्रश्न बैंक 1, नमस्कार दोस्तों राजस्थान बोर्ड के द्वारा आयोजित होने वाले परीक्षा रीट लेवल 1 लेवल 2, RPSC ग्रेड – प्रथम व ग्रेड – द्वितीय के लिए हिंदी एक पंक्तिय महत्वपूर्ण प्रश्न

हम इस वेबसाइट की मदद से आप सभी को हिंदी के एक पंक्तिय प्रश्न उपलब्ध करा रहे हैं जिससे आपको परीक्षा की तैयारी में मदद मिलेगी

सभी प्रश्न उत्तरों को ध्यानपूर्वक पढ़ें यह प्रश्न उत्तर बहुत ही सावधानीपूर्वक बनाए गए है फिर भी आपको इनमें कोई त्रुटि या कमी दिखाई देती है तो कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं उसे जल्द ही सही कर दिया जाएगा

हिंदी प्रश्न बैंक

1 – 10



(1) ‘श’ व्‍यंजन का उच्‍चारण स्‍थान कौन सा है।
≫ – तालु ।



(2) ‘व’ वर्ण का उच्‍चारण स्‍थान कौन सा है ।
≫ – दन्‍त + ओष्‍ठ ।



(3) ‘ड.’ का उच्‍चारण स्‍थान क्‍या है।
≫ – कण्‍ठ ।



(4) ‘क’ वर्ण उच्‍चारण की दृष्टि से क्‍या है।
≫ – कंठ्य ।



(5) वर्ग के द्वितीय व चतुर्थ व्‍यंजन क्‍या कहलाते है।
≫ – महाप्राण ।



(6) ‘ए’ और ‘ऐ’ का उच्‍चारण स्‍थान है।
≫ – कंठतालु ।



(7) ‘घ’ का उच्‍चारण स्‍थान क्‍या है।
≫ – कंठ ।



(8) वर्ण के प्रथम, तृतीय व पंचम वर्ण क्‍या कहलाते है।
≫ – अल्‍पप्राण ।

(9) मात्रा के आधार पर हिन्‍दी स्‍वरों के दो भेद कौन से है।
≫ – हस्‍व और दीर्घ ।


(10) सर्वनाम के साथ प्रयुक्‍त्‍ा होने वाली विभक्तियॉ होती है ।
≫ – संश्लिष्‍ट ।



11 – 20



(11) ‘शिक्षक विद्यार्थी को हिन्‍दी पढ़ाते है। वाक्‍य में क्रिया के किस रूप का प्रयोग हुआ है।
≫ – द्विकर्मक क्रिया ।



(12) ‘मुझे’ किस प्रकार का सर्वनाम है।
≫ – उत्‍तम पुरूष ।



(13) मानव शब्‍द का विशेषण बनेगा ।
≫ – मानवीय ।



(14) चिडि़या आकाश में उड़ रही है। उस वाक्‍य में उड़ रही क्रिया किस प्रकार की है।
≫ – अकर्मक ।



(15) पशु शब्‍द का विशेषण है।
≫ – पाशविक ।



(16) नेत्री शब्‍द का पुल्लिंग रूप है।
≫ – नेता ।



(17) उत्‍कर्ष का विशेषण क्‍या होगा ।
≫ – उत्‍कृष्‍ट ।



(18) काम का तत्‍सम रूप है।
≫ – कर्म ।



(19) दूध का तत्‍सम रूप क्‍या है।
≫ – दुग्‍ध ।

(20) प वर्ग का उच्‍चारण मुँह के किस भाग से होता है।
≫ – ओष्‍ठ ।



21 – 30



(21) क्रिया विशेषण किसे कहते है।
≫ – जिन शब्दों से क्रिया की विशेषता का ज्ञान होता है, उसे क्रिया विशेषण कहते है।
जैसे – यहॉ , वहॉ , अब , तक आदि



(22) अव्यय किसे कहते है।
≫ – जिन शब्दों में लिंग , वचन , पुरूष , कारक आदि के कारण कोई परिवर्तन नहीं होता, उन्हें अव्यय कहते है।



(23) अव्यय के सामान्यत: कितने भेद है।
≫ – अव्यय के सामान्यत: 4 भेद है।
1. क्रिया विशेषण
2. संबंधबोधक
3. समुच्चोय बोधक
4. विस्मचयादि बोधक



(24) हिन्दी् में वचन कितने प्रकार के होते है।
≫ – हिन्दी् में वचन 2 प्रकार के होते है।
1. एक वचन
2. बहुवचन



(25) वर्ण किसे कहते है।
≫ – वह मूल ध्वनि जिसका और विभाजन नही हो सकता हो उसे वर्ण कहते है।
जैसे – म , प , र , य , क आदि



(26) वर्णमाला किसे कहते है।
≫ – वर्णों का क्रमबद्ध समूह ही वर्णमाला कहलाता है।



(27) शब्द किसे कहते है।
≫ – दो या दो से अधिक वर्णों का मेल जिनका कोई निश्चित अर्थ निकलता हो उन्हे शब्द कहते है।



(28) वाक्य किसे कहते है।
≫ – दो या दो से अधिक शब्दों का सार्थक समूह वाक्य कहलाता है।



(29) मूल स्वरों की संख्यां कितनी है।
≫ – मूल स्वरों की संख्यां 11 होती है।



(30) मूल व्यंजन की संख्यां कितनी होती है।
≫ – मूल व्यंजन की संख्यां 33 होती है।



31 – 40



(31) ‘क्ष’ ध्‍वनि किसके अर्न्‍तगत आती है।
≫ – संयुक्‍त वर्ण ।



(32) ‘त्र’ किन वर्णों के मेल से बना है।
≫ – त् + र ।



(33) ‘ट’ वर्ण का उच्‍चारण स्‍थान क्‍या है।
≫ – मूर्धा ।



(34) ‘फ’ का उच्‍चारण स्‍थान है।
≫ – दन्‍तोष्‍ठय ।



(35) श् , ष् , स् , ह् व्‍यंजन कहलाते है।
≫ – ऊष्‍म व्‍यंजन ।



(36) य् , र् , ल् , व् व्‍यंजन को कहते है।
≫ – अन्‍तस्‍थ व्‍यंजन ।



(37) क् से म् तक के व्‍यंजनों को कहा जाता है।
≫ – स्‍पर्श व्‍यंजन ।



(38) घोष का अर्थ है।
≫ – नाद ।



(39) जिन ध्‍वनियों के उच्‍चारण में श्‍वास जिह्वा के दोनों ओर से निकल जाती है कहलाती है।
≫ – पार्श्विक ।



(40) ‘आ’ स्‍वर कहलाता है।
≫ – विवृत स्‍वर ।



41 – 50



(41) पश्‍च स्‍वर है।
≫ – इ , आ ।



(42) अग्र स्‍वर है।
≫ – ऐ ।



(43) ‘श्र’ व्‍यंजन किन दो व्‍यंजनों से मिलकर बना है।
≫ – श् + र ।



(44) ‘ड’ , ‘ढ’ का व्‍यंजन वर्ग है।
≫ – मूर्धन्‍य -उत्क्षिप्‍त ।



(45) ओम ध्‍वनि के उच्‍चारण में स्‍वर का कौन सा रूप प्रकट होता है।
≫ – प्‍लुत स्‍वर ।



(46) सघोष वर्णो का सही वर्ग है।
≫ – ड , ढ ।



(47) भ्राता का भाववाचक शब्‍द क्‍या होगा ।
≫ – भ्रातृत्‍व ।



(48) सीमा दौड़ती है। यहॉ दौड़ती है कैसी क्रिया है।
≫ – अर्कमक ।



(49) आशुतोष ने कहा कि मैं पढूँगा । इसमें ‘कि मै पढूँगा’ क्‍या है।
≫ – संज्ञा उपवाक्‍य ।



(50) सोना – चॉंदी और तेल – पानी किस प्रकार के संज्ञा शब्‍द है।
≫ – द्रव्‍यवाचक ।



51 – 60



(51) कृपाण का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – दानी ।



(52) अनुराग का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – विराग ।



(53) भोगी का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – योगी ।



(54) कीर्ति का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – अपकीर्ति ।



(55) स्‍थूल का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – सूक्ष्‍म ।



(56) शीर्ष का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – तल ।



(57) शोषक का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – शोषित ।



(58) मृदु का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – कटु ।



(59) कलुष का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – निष्‍कलुष ।



(60) निर्दय का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ – सदय ।



61 – 70 हिंदी प्रश्न बैंक 1



(61) सामिष का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ आमिष ।



(62) गमन का विलोम शब्‍द होगा ।
≫ आगमन ।



(63) सम्‍मुख का विलोम शब्‍द है।
≫ विमुख ।



(64) सुकाराथ का विलोम शब्‍द है।
≫ अकारथ ।



(65) अगानत का विलोम शब्‍द है।
≫ आगत ।



(66) उपमान का विलोम शब्‍द है।
≫ उपमेय ।



(67) मौन का विलोम शब्‍द है।
≫ मुखर ।



(68) ………….. प्रयास की अपेक्षा सामूहिक प्रयास का बल अधिक होता है।
≫ एकांगी ।



(69) गांधी जी के अनुसार अत्‍याचार का उत्‍तर ……………. से देना ही मनुष्‍यता है।
≫ सदाचार ।



(70) श्रवण कुमार के माता पिता द्वारा दशरथ को दिया गया शाप भी उनके लिए …………… बन गया ।
≫ वरदान ।



71 – 80 हिंदी प्रश्न बैंक 1



(71) सत्‍य बोलो मगर कटु सत्‍य मत बोलो । किस प्रकार का वाक्‍य है।
≫ संयुक्‍त्‍ा वाक्‍य ।



(72) जब तक वह घर पहुँचा तब तक उसके पिता जा चुके थे। यह वाक्‍य किस प्रकार का है।
≫ मिश्रित वाक्‍य ।



(73) यथासंभव अपना गृहकार्य शाम तक पूरा कर लो । मे वाक्‍य का प्रकार है।
≫ विधिवाचक ।



(74) हिन्‍दू विश्‍वविद्यालय की स्‍थापना मदनमोहन मालवीय ने की थी । में वाक्‍य का प्रकार है।
≫ कर्तृवाच्‍य ।



(75) व्‍यवहार में तुम बिलकुल वैसे ही हो, जैसे तुम्‍हारे पिताजी । में वाक्‍य का प्रकार है।
≫ मिश्र वाक्‍य ।



(76) हम अपनी संस्‍कृति के बारे में कितना जानते है। में वाक्‍य का प्रकार है।
≫ प्रश्‍नवाचक ।



(77) क्रिया के होने का समय तथा उसकी पूर्णता और अपूर्णता का बोध किससे होता है।
≫ काल से ।



(78) मैने गीता पढ़ी वाक्‍य में वर्तमान काल का कौन सा भेद है।
≫ सामान्‍य वर्तमान ।



(79) वाक्‍य में जो शब्‍द काम करने के अर्थ में आता है। उसे कहते है।
≫ कर्त्‍ता ।



(80) मै खाना खा चुका हूँ । इस वाक्‍य में भूतकालिक भेद इंगित कीजिए ।
≫ पूर्ण भूत ।



81 – 90 हिंदी प्रश्न बैंक 1



(81) क्रिया के साधन को बताने वाला शब्‍द कहलाता है।
≫ – करण कारक ।



(82) से विभक्ति किस कारक की है।
≫ – करण ।



(83) अपादान कारक की विभक्त्‍िा है।
≫ – से, अलग ।



(84) वह चटाई पर बैठा है। इस वाक्‍य में कौन सा कारक है।
≫ – अधिकरण कारक ।



(85) मोहन घोड़े से गिर पड़ा । इस वाक्‍य में कौन सा कारक है।
≫ – अपादन कारक ।



(86) वृक्ष से पत्‍ते गिरते है। इस वाक्‍य में इस कारक का चिन्‍ह है।
≫ – अपादान ।



(87) के लिए किस कारक का चिन्‍ह है।
≫ – सम्‍प्रदान ।



(88) कारक के कितने भेद होते है।
≫ – 8 ।



(89) जलमग्‍न में कौन सा कारक है।
≫ – अधिकरण ।



(90) जलधारा में कारक होगा ।
≫ – संबंध ।




91 – 100 हिंदी प्रश्न बैंक 1



(91) देवेन्‍द्र में कौन सी सन्धि है।
≫ – गुण ।



(92) निस्‍सार का सही सन्धि विच्‍छेद होगा ।
≫ – नि: + सार ।



(93) गिरीश का सन्धि विच्‍छेद होगा ।
≫ – गिरि + ईश ।



(94) (अ + नि + आय) के मेल से कौन सा शब्‍द बनेगा ।
≫ – अन्‍याय ।



(95) परिच्‍छेद में कौन सी संधि है।
≫ – व्‍यंजन ।



(96) निश्‍चल में कौन सी संधि है।
≫ – विसर्ग ।



(97) जगन्‍नाथ में कौन सी संधि है।
≫ – व्‍यंजन ।



(98) अत्‍याचार का संधि विच्‍छेद होगा ।
≫ – अति + आचार ।



(99) सन्‍तोष का संधि विच्‍छेद होगा ।
≫ – सम् + तोष ।



(100) सप्‍तर्षि का सन्धि विच्‍छेद होगा ।
≫ – सप्‍त + ऋषि ।



हिंदी के अन्य प्रश्नबैंक की लिंक नीचे दी गई है यहाँ क्लिक करके आप देख सकते हैं


Some Important Links

दोस्तों इसे ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को शेयर करें जिससे इसका फायदा उन सभी तक पहुंच सके

व्हाट्सएप ग्रुप के सदस्य बने

दोस्तों इसे ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों को शेयर करें जिससे इसका फायदा उन सभी तक पहुंच सके

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
wpDiscuz