• February 3, 2020
कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट चित्रों के साथ

कंप्यूटर के इनपुट और आउटपुट उपकरण

कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट एवं अन्य से संबंधित प्रश्नोत्तरी हल करने के लिए नीचे दिए गए Start Quiz बटन पर क्लिक करें

  • प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का है
  • सभी प्रश्न करने अनिवार्य है
  • सभी प्रश्नों को हल किए बिना आप परिणाम नहीं देख सकेंगे
  • कोई समय सीमा नहीं है
  • प्रश्नावली में कोई त्रुटि होने पर उसकी सूचना  हमें कमेंट बॉक्स मैं लिख कर बता सकते हैं
  • ऐसे ही प्रश्नावली आप जिस अध्याय(topic) के लिए चाहते हैं उसे हमें कमेंट बॉक्स  मैं लिखकर बता सकते हैं
Q.1 डेजी व्हील प्रिंटर का.......... एक प्रकार है?
impact-printers
Leaser Printer
Q.2 निम्नलिखित किस मेमोरी को प्रति सेकंड कई बार ताजा( रिफ्रेश) किया जाता है-
Q.3 ऐसी कौन सी मेमोरी है जिसका प्रयोग रैम द्वारा अधिक बार प्रयोग में आने वाली सूचनाओं को संग्रहित करने के लिए किया जाता है?
Q.4 एक ऑप्टिकल इनपुट डिवाइस जो पेपर मीडिया पर बने पेंसिल के निशानों को स्कैन करता है?
स्कैनर
omr
Q.5 निम्नलिखित में से जो सबसे अच्छी गुणवत्ता वाली वेक्टर ग्राफिक्स का उत्पादन करता है-
Leaser Printer
डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर
Q.6 DPI का पूरा नाम है-
Q.7 बहु-विकल्पी परीक्षणों में उत्तर पुस्तिका को स्वत: जांच लेता है
मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रीडर
omr
ऑप्टिकल कैरेक्टर रीडर
बारकोड रीडर
Q.8 टाइपिंग करते समय 2 शब्दों के बीच जगह छोड़ने के लिए किस कुंजी को दबाया जाता है?
Q.9 हार्ड डिक्स से डिलीट की गई फाइल किसमें भेज दी जाती है?
Q.10 निम्नलिखित में से कौन सा उपकरण इनपुट नहीं है-
जॉय स्टिक
Q.11 कीबोर्ड के जिन बटनों पर तीर/ एरो का निशान होता है उन्हें कौनसी कुंजी कहते हैं?
Q.12 निम्नलिखित उपकरणों में से कौन सा उपकरण तेजी से कंप्यूटर गेम को खेलने में प्रयोग किया जाता है-
ट्रैकबॉल
touch-screen
जॉय स्टिक
Q.13 'HDMI' पोर्ट का विस्तारित रूप है
Q.14 किसी फाइल का नाम बदलने के लिए निम्न में से किस कुंजी का इस्तेमाल किया जाता है-
Q.15 पेनड्राइव इस्तेमाल की जाती है-
Q.16 बारकोड रीडर है-
बारकोड रीडर
Q.17 कर्सर के दाएं ओर के अक्षर कौन सी कुंजी से मिटते हैं?
Q.18 निम्न में से कौनसी मेमोरी अस्थिर प्रकृति की है
Q.19 Ctrl/Alt को कहा जाता है-
Q.20 डाटा संचरण की गति को मापने के लिए आमतौर पर इस्तेमाल इकाई क्या है?
Complete the form below to see results
कंप्यूटर सिस्टम
You got {{userScore}} out of {{maxScore}} correct
{{title}}
{{image}}
{{content}}

प्रश्न – कार्य पद्धति के आधार पर कंप्यूटर का वर्गीकरण ?

कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट चित्र के साथ इस पोस्ट के माध्यम से आप सभी को उपलब्ध कराया जा रहा है जिससे आप ना केवल इसे पढ़ पाएंगे साथ ही चित्रों के माध्यम से आप इन्हें पहचान भी सकेंगे और अपने मेमोरी में स्थाई रूप से याद कर सकेंगे सिस्टम- कार्य पद्धति के आधार पर इसका वर्गीकरण निम्न प्रकार से हैं

  • डिजिटल कंप्यूटर
  • एनालॉग कंप्यूटर
  • हाइब्रिड कंप्यूटर

1. डिजिटल कंप्यूटर :-


डिजिटल कंप्यूटर

डिजिटल कंप्यूटर में आंकड़े को इलेक्ट्रिक पल्स के रूप में निरूपित किया जाता है। जिसकी गणना (0 या 1) से निरूपित की जाती है। उदाहरण -डिजिटल घड़ी।


2. एनालॉग कम्प्यूटर :-

एनालॉग कम्प्यूटर

में विद्युत से एनालॉग रूप का प्रयोग किया जाता है। उदाहरण – वोल्टमीटर और बैरोमीटर इत्यादि


3. हाइब्रिड कम्प्यूटर :-

हाइब्रिड कम्प्यूटर

यह डिजिटल तथा एनालॉग का मिश्रित रूप है। इसमें इनपुट तथा आउटपुट एनालॉग रूप में होता है परन्तु प्रोसेसिंग डिजिटल रूप मे होता है

इसमें एनालॉग से डिजिटल कन्भर्टर (ADC) तथा डिजिटल से एनालॉग कन्वर्टर (DAC) का उपयोग होता है।


प्रश्न – आकार के आधार पर कंप्यूटर को कितने भागों में बांटा गया है?

1. मेनफ्रेम कम्प्यूटर :-

मेनफ्रेम कम्प्यूटर

वृहत आंतरिक स्मृति संग्रहण क्षमता (Large Internal memory storgae) तथा सॉफ्टवेयर और पेरीफेरल यंत्रों को वृहत रूप से जोड़ा जाना है।

इसके कार्य करने की क्षमता तथा गति अत्यंत तीव्र होती है। इसके लिए मल्टिकृत ऑपरेटिंग सिस्टम का निर्माण बेल प्रयोगशाला में किया गया ।

उपयोग बैंकिंग, अनुसंधान रक्षा, अंतरिक्ष आदि के क्षेत्र में। उदाहरण – IBM -370, IBM-S/390 तथा यूनिक -1100 इत्यादि।


2.मिनी कंप्यूटर :-

मिनी कंप्यूटर

ये आकार में मेनफ्रेम से काफी छोटे होते है। इसकी संग्रहण क्षमता और गति अधिक होती है।

सुपर चिप का प्रयोग इसमें करने पर वह सुपर मिनी कंप्यूटर में बदल जाता है। उपयोग, कम्पनी, यात्री-आरक्षण, अनुसंधान आदि में।


3. माइक्रो कंप्यूटर :-

माइक्रो कंप्यूटर

माइक्रो कंप्यूटर में प्रोसेसर के रूप में माइक्रो प्रोसेसर का उपयोग होता है। उपयोग – व्यावसायिक तौर पर, घरों में, मनोरंजन, चिकित्सा आदि के क्षेत्र में।


4. पर्सनल कम्प्यूटर :-

पर्सनल कम्प्यूटर

यह आकार में बहुत छोटे होते है। यह माइक्रो कंप्यूटर का ही एक रूप है। इसका ऑपरेटिंग सिस्टम एक साथ कई कार्य (Multitasking) कर सकता है।

इसे इंटरनेट से भी जोड़ सकते है। भारत में निर्मित प्रथम कम्प्यूटर का नाम सिद्धार्थ हैं। पोकेमोन नामक प्रसिद्ध कंप्यूटर खेल के लिए निर्मित हुआ था।

उपयोग – घरों में व्यावसायिक रूप से, मनोरंजन आंकड़ों के संग्रहण में इत्यादि। उदाहरण – IBM, Compac, Apple, lenovo, HP आदि के पर्सनल कम्प्यूटर।


5. लैपटॉप :-

यह PC की तरह ही कार्य करता है, परन्तु आकार में PC से भी छोटा था कहीं भी ले जाने योग्य होता है। CPU,Monitor, Keyboard, Mouse तथा

अन्य ड्राइव भी इसमें संयुक्त होते है। यह बैटरी से भी कार्य करता है। वाई-फाई और ब्लुटुथ की सहायता से इंटरनेट का भी उपयोग किया जा सकता है।


6. पॉमटॉप :-

पॉमटॉप

यह आकार में बहुत ही छोटा कम्प्यूटर है जिसे हथेली पर रखकर उपयोग किया जाता है। इसमें इनपुट ध्वनि के रूप में भी किया जाता है।


7. सुपर कम्प्यूटर :-

सुपर कम्प्यूटर

विश्व का प्रथम सुपर कम्प्यूटर 1976 ई. में क्रे -1 था जो के रिसर्च कंपनी द्वारा विकसित था। यह इतिहास में सबसे सफल सुपर कम्प्यूटर है।

भारत का पहला सुपर कम्प्यूटर परम 8000 सी.डैक द्वारा 1991 में विकसित किया गया था। इसमें मल्टी प्रोसेसिंग तथा समानान्तर प्रोसेसिंग प्रयुक्त होता है।

जिसके द्वारा किसी भी कार्य को टुकड़ो में विभाजित जाता है तथा कई व्यक्ति एक साथ कार्य कर सकते है

इसका उपयोग एनीमेटेड ग्राफिक्स, परमाणु अनुसंधान इत्यादि में होता है।

भारत के प्रथम सुपर कम्प्यूटर Flow Solver का विकास NAL बेंगलुरू द्वारा किया गया।


कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट चित्रों के साथ

इनपुट डिवाइस (Input Device):-

जिन यंत्रों से आंकड़े, शब्द या निर्देश मेमोरी में डाले जाते है. इनपुट डिवाइसेस कहलाते है । कुछ प्रमुख इनपुट डिवाइसेस निम्नलिखित :

  1. की बोर्ड (Key Board)
  2. माउस (Mouse)
  3. ट्रैकबॉल (Trackball)
  4. जॉयस्टिक (Joystick)
  5. स्कैनर ( Scanner)
  6. माइक्रोफोन ) Microphone)
  7. वेबकैम (Web Cam)
  8. बार कोड रीडर (Barcode Reader)
  9. ओ सी आर (OCR-Optical Character Reader).
  10. एम आई सी आर (MICR-Magnetic Ink Character Reader)
  11. ओ.एम.आर (OMR-Optical Mark Reader)
  12. किम बॉय टैग रीडर (Kimbal Tag Reader)
  13. स्पीच रेकग्निशन सिस्टम (Speech Recognition System)
  14. लाइट पेन (Light Pen)

प्रश्न- कीबोर्ड किस काम आता है? कीबोर्ड किसे कहते हैं?

कीबोर्ड किसी भी कम्प्यूटर की प्रमुख इनपुट डिवाइस है

जिनके प्रयोग से कम्प्यूटर में टेक्स्ट तथा न्यूमैरिकल डाटा निवेश कर सकते हैं

की बोर्ड में सारे अक्षर टाइपराइटर की तरह क्रम में होते है।

आजकल USB की बोर्ड आते है जो कम्प्यूटर के USB पोर्ट में लग जाते है। तथा वायरलेस की बोर्ड भी आते है

जिन्हें सिस्टम से जोड़ने की जरूरत नहीं होती

(a) अल्फाबेट key?- की बोर्ड में 26 अल्फाबेट की A से Z तक होते है।

जिनका उपयोग कर हम किसी भी शब्द या टेक्सट को लिख सकते है।

(b) संख्यात्मक key

इनपर 0 से 9 तक संख्या अंकित रहते है। की बोर्ड के दाहिने तरफ अंक टाइप करने के लिए संख्यात्मक की पैड होता है।

(c) फंक्शन की (key) :-ये की बोर्ड में सबसे ऊपर स्थित होते है। इन बटनों पर F का F, अंकित होते है।

(d) कर्सर कंट्रोल- इन की का उपयोग स्क्रीन पर कर्सर को कहीं भी ले जाने के लिए होता है।

वे चार भिन्न दशाओं को करते है । इसे ऐरो की भी कहा जाता है।

  • इनके ठीक ऊपर कर्सर को नियंत्रित करने के लिए चार और बटन होते है जिन्हें होम, एन्ड, पेज और पेज डाउन कहते है।
  • होम –कर्सर को लाइन के आरंभ में ले जाता है। –
  • एन्ड – कर्सर को लाइन के अंत में ले जाता है।
  • पेजअप – कर्सर को एक पेज पीछे या पिछले पेज में ले जाता है।
  • पेज डाउन – कर्सर को अगले पेज पर ले जाता है।

(e) स्पेशल परपस की (key)-Special Purpose Key) –

  • (i) कैप्स लॉक की (Caps Lock Key):- यह एक टॉगल बटन है। टॉगल बटन अर्थात्
    • एक बार दबाने पर वह सक्रिय तथा दूसरी बार पुनः उसे दबाने पर निष्क्रिय हो जाता है।
    • इसे सक्रिय रखने पर (On) पर सारे अक्षर बड़े अक्षरों (Capital Letter) में लिखा जाता है। जिसे कम्प्यूटर Uppercase कहते है।
  • (ii) नम लॉक की (key) :- यह भी टॉगल बटन है। इसके सक्रिय रहने से की बोर्ड के ऊपर की संख्यात्मक कीपैड सक्रिय (on) रहता है।
  • (iii) शिफ्ट की (key):-
    • इसे संयोजन बटन (Combination Key) कहते है। इसे किसी और बटन के साथ उपयोग करते है।
    • की बोर्ड पर जिस किसी भी बटन पर दो Character को टाइप करने के लिए शिफ्ट अगर कैपस लॉक सक्रिय है
    • तो भी शिफ्ट के साथ कोई भी अक्षर टाइप करने पर छोटे अक्षर या बड़े अक्षर में टाइप होगा।
  • (iv) इन्टर की (key) :- डॉक्यूमेंट में एक पंक्ति का अंत तथा नये पंक्ति का आरंभ करता है। की बोर्ड पर दो की संख्या मे होता है।
  • (v) टैब की:- Tab’ Key :- यह टेबुलेटर बटन का संक्षिप्त नाम हैं यह कर्सर को को निश्चित दूरी तक एक बार मे ले जाता है। और ब्राउजर पेज में दूसरे लिंक पर ले जाता है। वर्ड या एक्सेल के टेबल के टेबल के एक दूसरे वर्ग में जाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  • (vi) एस्केप की (key) :- यह कैंसिल बटन के समतुल्य है। पावर प्वाइंट में इसके उपयोग में स्लाइड शो रूक जायेगा तथा वेव पेज पर चलता हुआ एनीमेशन रूक जायेगा। Ctrl के साथ उपयोग करने पर Start मेनू खुल जाता है।
  • (Vii) स्पेस बार :- शब्दों के बीच में जगह डालने केलिए इसका प्रयोग किया जाता है।
  • (vii) बैक स्पेस:- की कर्सर के ठीक बायी ओर के अक्षर चिहन या जगह को मिटाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

Keyboard-Keys

  • डिलीट की:- कर्सर के ठीक दायीं ओर से अक्षर, चिह्न या जगह को मिटाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।
  • कंट्रोल की:- यह भी एक संयोजन बटन है जो किसी और बटन के साथ मिलकर विशेष कार्य करता है। इसे रिसेट भी कहते है।
  • प्रिंट स्क्रीन की:- इस की को शिफ्ट की के साथ प्रयोग कर स्क्रीन पर प्रदर्शित फाइल या फोटो प्रिंटर के द्वारा प्रिट किया जाता है।
  • स्क्रॉल लॉक की:- यह बटन की बोर्ड के ऊपर पॉज की के पास स्थित होता है। यह टेक्स्ट या रन कर रहें प्रोग्राम को अस्थायी रूप से एक स्थान पर रोकता है।
  • पॉज की (Pause key):- यह की की बोर्ड के ऊपर दाहिने तरफ स्थित होता है। यह बटन को अस्थायी तौर पर चल रहे प्रोग्राम को रोक देता है।
  • फायर की (Modifier Key):- यह कम्प्यूटर की बोर्ड पर की है जो किसी की के कम्बीनेशन में उपयोग किया जाता है। जैसे – Alt+F4 विन्डोज में सक्रिय प्रोग्राम विडों को बंद कर देता है। जहां Alt मोडिफायर की है जो F4 के कार्य को रूपांतरित कर देता है। प्रमुख मोडिफायर की निम्नलिखित है 1. शिफ्ट की 2 कॅट्रोल की 3. ऑल्ट की 4. शीफ्ट की

प्रश्न- माउस किसे कहते हैं, इसका यूज कैसे किया जाता है?

माउस एक इनपुट डिवाइस है। डगलस सी इंजेल्वरर्ट ने 1977 में इसका आविष्कार किया था।

इसमें लेफ्ट बटन, राइट बटन और बीच में एक स्क्रौल व्हील होता है। इसे प्वाइंनटिंग डिवाइस भी कहते है।

माउस दो बटन, तीन बटन तथा ऑप्टिकल भी होते है। माउस के नीचे माउस स्लेट के आकार की वस्तु को माउस पैड कहते है।

माउस के मुख्यतः चार कार्य है

  • क्लिक या लेफ्ट क्लिक :- इसका चन हो गया है। इस बटन का उपयोग सामान्यतया OK के लिए किया जाता है।
  • डबल क्लिक :- इसका उपयोग किसी फाइल, प्रोग्राम को खोलने के लिए होता है।
  • राइट क्लिक :- राइट माउस बटन को एक बार दबा कर छोड़ने वैक्यूम पर यह स्क्रीन पर आदेशों की एक है।
  • ड्रैग और ड्रॉप:- इसका उपयोग किसी चीज को स्क्रीन पर एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए होता है।

(3) ट्रैकबॉल :-

ट्रैकबॉल
ट्रैकबॉल

इसके ऊपर एक बॉल होता है जिसे हाथ से घुमाकर प्लाइंटर की दिशा में परिवर्तन किया जाता है । इसका उपयोग के क्षेत्र में कोड तथा काम में किया जाता है।


(4) जॉयस्टिक

जॉय स्टिक
जॉय स्टिक

यह एक इनपुट डिवाइस है। जिसका उपयोग विडियो तथा कम्प्यूटर गेम खेलने में होता है ।


(5) स्कैनर :-

स्कैनर
स्कैनर

इसका उपयोग टेक्स्ट या चित्र को डिजिटल रूप परिवर्तित करने में होता है। जिसे हम लोग स्क्रीन पर दख सकते है।


(6) माइक्रोफोन:-

माइक्रोफोन

इस इनपुट डिवाइस का प्रयोग किसी भी आवाज को रिकार्ड करने में होता है।


(7). वेबकैम :-

वेबकैम

इसका प्रयोग इंटरनेट पर फोटो देखने तथा फोटो लेने के लिए होता है।


(8). बार कोड रीडर :-

बारकोड रीडर
बारकोड रीडर

यह Point of sales डेटा रिकॉर्डिंग है आजकल सुपर मार्केट में मूल्यों तथा डेटा अपडेट करने के लिए इसका उपयोग किया जाता है।


(9) ओ.सी.आर. (OCR- Optical Characters Recognition) :-

ऑप्टिकल कैरेक्टर रीडर
ऑप्टिकल कैरेक्टर रीडर

यह टाइप या हाथ से लिखे हुए डेटा को भी पढ़ सकता है। यह स्कैनर तथा विशेष सॉफ्टवेयर का संयोजन है जो प्रिंट डेटा या हस्तलिखित डेटा को ASCII में रूपान्तरित कर देता है।


(10) एम आई सी आर (MICR-Magnetic Ink Character Reader) :-

मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रीडर
मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रीडर

चुम्बकीय स्याही से लिखे अक्षरों या डॉक्यूमेंट को इसके द्वारा पढ़ा जाता है। या कम्प्यूटर में संग्रह किया जाता है।


(11) ओ एम आर (OMR – optical Mark Reader):-

omr
OMR

यह एक इनपुट डिवाइस है जिसका प्रयोग फार्म या कार्ड पर विशिष्ट स्थानों पर डाले चिह्नों को पढ़ने मे होता है।


(12) किमबॉल टैग रीडर :-

किमबॉल टैग रीडर

किमबाल टैग एक छोटा सा कार्ड है, जिसमें छेद पंच रहते है।


(13) स्पीच रिकग्निशन माइक्रोफोन या टेलीफोन

स्पीच रिकग्निशन माइक्रोफोन या टेलीफोन

द्वारा बोले गये शब्दों को सेट को पकड़कर ध्वनि में परिवर्तित करेन में किया है। इसका उपयोग डायलॉग, सल डेटा प्रविष्ट, स्पीच से टेक्स्ट प्रोसेसिंग तथा हवाई जहाज कॉकपिट में होता है।


(14) प्रकाशीय कलम (Light pen):-

प्रकाशीय कलम

यह एक इनपुट डिवाइस है। इसका उपयोग स्क्रीन पर कुछ भी चित्र बनाने में होता है।


(15) टच स्क्रीन :-

touch-screen
touch-screen

यह एक इनपुट डिवाइस है। इसका उपयोग बैंकों : में एटीएम तथा सार्वजनिक सूचना केन्द्रों स्क्रीन पर उपलब्ध विकल्पों का चयन करने के लिए किया जाता है। इसका उपयोग संगीत सुनने के लिए होता है।


कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट चित्रों के साथ

आउटपुट डिवाइस (Output Devices)

ये एसे उपकरण है जो प्रोसेस के उपरांत रिजल्ट देते या प्रदर्शित करते है। कुछ आउटपुट डिवाइस निम्नलिखित है मॉनिटर 2. प्रिन्टर 3 स्पीकर 4. प्लॉटर 5 स्क्रीन इमेज प्रोजेक्टर

(1) मॉनिटर :-

इसे VDU (Visual Display Unit) भी कहते है।

  • (a) सी आर टी मॉनिटर (CRT – Cathode Ray Tube):- इसमें एक कैथोड रे ट्यूब रहता है जिसमें इलेक्ट्रॉन गन लगा होता है। मॉनिटर पर चित्र छोटे छोटे बिन्दुओं से मिलकर बनता है जिन्हें पिक्सेल कहते है।
  • (b) टी एफ टी मॉनिटर (TFT):- यह एक सीधा स्क्रीन होता है जो हल्का तथा पतला होता है। तथा कम जगह घेरता है।

कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट चित्रों के साथ

(2) प्रिन्टर :-

प्रिन्टर एक आउटपुट डिवाइस है। जिसके द्वारा प्रिन्टेड कॉपी या हार्ड कॉपी कागज पर प्राप्त होती है। प्रिंटर के प्रकार :-

  • (a) कैरेक्टर प्रिन्टर :-
    • यह एक बार में एक कैरेक्टर प्रिंट करता है इस सीरियल प्रिन्टर भी कहते है,
    • कैरेक्टर प्रिन्टर 200-450 कैरेक्टर/सैकण्ड प्रिन्ट करता है।
  • (b) लाइन प्रिंटर :- यह एक बार में एक लाइन प्रिन्ट करता है। “लाइन प्रिंटर 2002000 कैरेक्टर /मिनट प्रिन्ट करता है।
  • (C) पेज प्रिंटर :- यह एक बार में एक पूरा पेज प्रिन्ट करता है।
  • (d) इम्पैक्ट प्रिन्टर :-
    • यह कागज, रिबन तथा कैरेक्टर तीनों पर एक साथ चोट कर डेटा प्रिंट करता है । इम्पैक्ट प्रिन्टर भी कई प्रकार के होते है
  • (i) डॉट मैट्रिक्स प्रिंटर :
    • यह 80 कॉलम तथा 132 कॉलम दो तरह की क्षमताओं में आता है।
    • इसमें एक बार में केवल एक रंग का प्रिन्ट लिया जा सकता है।
    • इसलिए इसे मोनों प्रिन्टर भी कहते है। इसकी क्षमता को डीपीआई में मापा जाता है।
  • (ii) डेजी व्हील प्रिंटर :-
    • इससे ग्राफ का चित्र प्रिन्ट नहीं किया जा सकता है। यह शोर करने वाला तथा धीमी छपाई करता है।
  • (2) नॉन इम्पैक्ट प्रिंटर :- यह ध्वनि मुक्त प्रिन्टर है क्योंकि इसमें प्रिंटिंग हेड कागज पर चोट नहीं करता है। नॉन इम्पैक्ट प्रिन्टर भी कई प्रकार के होते है।
    • (i) इंकजेट प्रिंटर :- में स्याही के लिए कार्टेज लगाया जाता है।
    • (ii) लेजर प्रिन्टर :- इसमें लेजर बीम की सहायता से ड्रम पर आकृति बनाता है।
    • (iii) थर्मल प्रिंटर :- इसमें थर्मोक्रोमिक कागज का उपयोग किया जाता है।

कंप्यूटर के आउटपुट और इनपुट चित्रों के साथ


(3) स्पीकर :- यह भी एक आउटपुट डिवाइस है जो अक्सर मनोरंजन के लिए उपयोग में आता है।

(4) प्लॉटर :- यह एक आउटपुट डिवाइस है।

(5) स्क्रीन इमेज प्रोजेक्टर :- यह एक हार्डवेयर डिवाइस है जो बड़े सतह या पर्दे पर चित्रों को दिखाता है।


More Topics for REET Exam or Other Exams


Some Important links

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
trackback
5 months ago

[…] कंप्यूटर के इनपुट और आउटपुट उपकरण  […]

trackback
5 months ago

[…] कंप्यूटर के इनपुट और आउटपुट उपकरण  […]